October 22, 2020
  • October 22, 2020
  • Home
  • Bhautik Samasya Upay
  • विवाह बाधा ससुराल में समस्या का अचूक उपाय

विवाह बाधा ससुराल में समस्या का अचूक उपाय

By on February 8, 2019 0

विवाह बाधा ससुराल में समस्या का अचूक उपाय

Vivah bada sashural me Samashya - mantra gyan

Vivah bada sashural me Samashya

इस लेख में मैं आपको खास युक्ति बताने वाला हूं जिससे आप विवाह बाधा एवं ससुराल में समस्या से बच सकती हो । काफी ऐसे बहने हैं जिन लोगों ने अभी तक मांगलिक दोष के कारण या विवाह ना होने के कारण काफी दुखी होते हैं ,उनके मां-बाप दुखी होते हैं या फिर वह ऐसे तरीका अपनाते हैं जिसमें उनके रूपये खर्च हो जाता है या काम बनता ही नहीं है । तो इस उक्ति को जरूर अपनायें । जिसने भी इस युक्ति को अपनाया है उसने सच में इस विवाह बाधा ससुराल में समस्या से निजात पाया है ।

विवाह me बाधा क्यों है :-

पिछले कीन्ही अनैतिक कर्म के कारण कुंडली में विवाह बाधा होना, मांगलिक दोष होना। शादी में या ससुराल मे समस्या है तो ! विवाह बाधा ससुराल में समस्या का अचूक उपाय jyotish totka जरूर अपनायें ।

यह उपाय किन किन समस्या में लाभ करेगी :-

1.आप की विवाह नहीं हो रहा उम्र नीकल रहा है।

2.या ज्योतिष ने मांगलिक दोष बताया है ।

3.अगर सादी के बाद आपका जीवन में आनंद नहीं है छोटी मोटी बात मे कहा सुनी होता है ।

4.पति पत्नी में कहा सुनी होता है तो । किसी भी सादी शुदा बहन को ससुराल मे जो भी कोई समस्या हो तो ।
नीचे कुछ उपाय बताये जा रहे हैं ईसे करें और अपनी जीवन सुखमय बनाये।

विवाह बाधा ससुराल में समस्या का अचूक उपाय

उपाय जानें :-

1. शुक्ल पक्ष की thard Day को Fast rakhe रखे !

2. व्रत माने एक बार बगैर नमक का भोजन कर के व्रत रखें ।

3. भोजन में चावल सब्जी दाल रोटी नहीं खाए, दूध रोटी खा लें मतलब मीठा खा सकते हो।

4..शुक्ल पक्ष की 3दिन को अमावस्या से पूर्णिमा तक की शुक्ल पक्ष में जो तीसरा दिन आती है उस दिन ऐसा उपवास रखें ।

5. साल्ट बगैर का भोजन ” दूध रोटी ” 1 बार खाए बस ।

6.उस दिन खुद भी और गाय को चंदन से तिलक करें

7. उत्तर दिशा में मुख करके इस दिन खुद मीठा भोजन करें और गाय को भी रोटी गुड़ खिलाये

8. भूमी सयन करें

9. ईस दिन अपने गुरू मंत्र का या ” ऊँ ” का मानसिक जप सुबह शाम 51 -51 मिनट करें ।

10 .वैशाख शुक्ल 3 दिन और भाद्रपद मास की शुक्ल का तीसरा दिन जरुर करें उपवास जरुर करें और नमक बगैर करें जरुर लाभ होगा ।

शास्त्र में आता है ऐसा व्रत वशिष्ठ जी की धर्म पत्नी अरुंधती ने करी थी और करते ही रहती थी ।

ऐसा आहार नमक बिना का भोजन या फल आहार ईसी कारण वशिष्ठ और अरुंधती का परीवारिक जीवन इतना आनंद और सुंदर था कि अब भी सप्त ऋषियों में से वशिष्ठ जी का नाम आदर से लीया जाता है।
और उन के साथ अरुंधती का का नाम सदा ही आदर पूर्वक सूखी दंपति के रूप में लिए जाते हैं।

और शास्त्रो के अनुसार शादी करते समय शादी के दीन उनका दर्शन करते है आशीर्वाद ले ते हैं । जो जानकर पंडित होता है वो बोलता है शादी के समय वर-वधु को अरुंधती का तारा दिखाया जाता है और मानसिक प्रार्थना करता है कि । “जैसा वशिष्ठ जी और अरुंधती का जीवन भर साथ रहा ऐसा हम दोनों पति पत्नी का साथ रहेगा ।ऐसा वैवाहिक नियम है ।

चन्द्रमा की पत्नी ने भी ईसी नीयमो को पालन कर, इस व्रत के द्वारा चन्द्रमा की 27 पत्नियों में से मुख्य स्थान पाई ।

चन्द्रमा की पत्नी ने thard Day के व्रत के द्वारा ही वो स्थान प्राप्त किया था ।
तो अगर किसी सुहागन माईयां को कोई ससुराल की तकलीफ है तो ये व्रत अनुस्ठान अवश्य करें ।

विवाह बाधा ससुराल में समस्या का अचूक उपाय लेख को पढ़ा आप सच में बधाई के पात्र हैं क्योंकि आपकी समस्या निश्चित ही खत्म हो जाएगी बस आपको श्रद्धा करनी है और जो इस लेख में बताए नियम है उसे पालन करना है और आपका समस्या खत्म होने पर ही है अगर आपको या लेख उपयोगी लगा है तो अन्य बहने भाई जिनका परिवार में कलह है । विवाह बाधा ससुराल में समस्या का अचूक उपाय तक सेयर कर उनके उनके जीवन में खुशी देने का पुन्य लाभ जरूर कमायें।

क्रिया योग ,ध्यान योग ,मंत्र साधना शिविर में शामिल होना चाहते है तो संपर्क करे वाट्स अप नं 7898733596 साधना विषय :- 1.क्रीया योग की उस गुप्त साधना का अभ्यास जिनका, वीडियो या लेख में बताना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है। २. ध्यान की खाश तकनीक। ३. मंत्र योग की खाश विधि। ४. समाधी की गुप्त रहस्य। ५. कुंडलिनी जागरण की गुप्त और विशेष टेक्निक। 6. आर्थिक और आध्यात्मिक विकास के लिये विशेष साधना विधि नोट :- Lockdown के बाद साधना शिविर में शामिल होकर आध्यात्मिक विकास करें । यदि आप का भाग्य में गुरु क्रपा नहीं है तो आप अभागा हैं। और गुरु दीक्षा लेकर ईस दिन गुरू मंत्र का विशेष अनुष्ठान कीया तो अभागा भी महा पुण्य वान, माहा भाग्यशाली बन जायेगा सिर्फ श्रद्धा विश्वास रखता हो !