October 30, 2020
  • October 30, 2020

Sadhna Jap Anushthan Ka Khash din

By on February 7, 2019 1

Sadhna Jap Anushthan Ka Khash din

इस लेख में हम चर्चा करने वाले हैं कुछ Sadhna Jap Anushthan Ka Khash din जिस दिन हम अगर धर्म अनुष्ठान करते हैं तो 10000 गुना लाभ होता है।

जैसे स्थान का महत्व है , ठीक वैसे ही इन Sadhna Jap Anushthan Ka Khash din ईस दिन जब हम साधना करते हैं तो हमें 10000 गुना लाभ होता है।

खास तिथियों का जप अनुष्ठान हजारो गुणा फल देगा

Sadhna Jap Anushthan Ka Khash din

 

Sadhna Jap Anushthan Ka Khash din

🌷 पुण्यदायी खास तिथियाँ🌷

👉तेरह फरवरी :-

बुधवारी अष्टमी (सूर्योदय mins marnig से दोपहर 3:47 मिनट Pm तक), विष्णुपदी संक्रांति ( पुण्यकाल :- सूर्योदय से सुबह 8:50 मीनट तक ) (ध्यान, मंत्र जप ,गुरू सेवा, सत्संग आदि का लाख गुना फल )

👉सोलह – फरवरी :

सोलह फरवरी “जया एकादशी” का दिन है। (ईस दिन व्रत पूजा से पिशाचत्व नाश होता है , और व्रत से ब्रह्महत्यातुल्य पाप भी सम होता है अगर धर्म अनुष्ठान करा जाता है तो। )

👉 सत्राह – फरवरी : –

रवि पुष्यामृत योग (शाम 4:56 pm से 18 फरवरी सूर्योदय marnig तक), माघ शुक्ल त्रयोदशी इसी दिन से माघी पूर्णिमा शुरू होता है (19 फरवरी) तक है। ईस दिन मंत्र जप अनुष्ठान जरूर करें।

👉दो- मार्च : –

” Vijay Akadashi दो मार्च को होना है। ईस Vijay Akadashi के दिन व्रत ,सेवा ,तप,धर्म अनुष्ठान दान करने का विशेष पूण्य लाभ मीलेगा । इस लोक में संसारिक क्षेत्र में विजय प्राप्ति

जैसे :-

1.मुकदमा में जीत के लीये प्राथना करे और अपने गुरू मंत्र का जाप सुबह शाम 108 माला,

2.कर्ज से मुक्ति चाहने वाले साधक गुरू प्राथना के बाद, अपने चित्र के समक्ष, गुरू मंत्र जप करें 108 माला सुबह – शाम करें !

3.विवाह में बाधा हो तो गुरू मंत्र 108 माला

4. व्यसन से छुटकारा के लीये प्राथना के बाद 108 माला !

अनुष्ठान कैसे करें

अपने गुरू से मन ही मन प्रार्थना करें Or Sankalp Kare Ki फलाना कार्य आप की आशीर्वाद से हो जाएगा ,फिर गुरू मंत्र जप अनुष्ठान करें, निश्चित ही लाभ होगा,सुबह- शाम 108 माला गर्म आसन में बैठ कर करें।

चार -मार्च : –

ईस दिन महा शिव रात्रि व्रत है ,ईस दिन का ध्यान जप साधना अनुष्ठान मोक्ष को देने वाली है। अगर रात्रि-जागरण, शिव – पूजन करो तो श्रेष्ठ है। (निशीथकाल : – रात्रि 12:26 से 1:15 तक ! )

21March

Holi ईस दिन भी आप अवगुण से मुक्ति पाने का साधना कर सफलता पा सकते हैं ।

गुप्त नवरात्रि महत्व :-

👉सनातन धर्म के मान्यता अनुसार, एक साल में चार नवरात्रियां मनायी जाती हैं , लेकिन सधारन लोगों को केवल दो नवरात्रि ” चैत्र का और शारदीय नवरात्रि ” के बारे में जान पाते है।

आप को ईस खाश तिथियों important day का जानकारी प्राप्त हुआ है तो आप जरूर लाभ उठायें Sadhna Jap Anushthan Ka Khash din

आषाढ़ और माघ माहीने की नव रात्रि को गुप्त नवरात्रि माना जाता है ,और ईन दिनो में शांति ,मुक्ति, शक्ति के लीये श्रेष्ठ प्राथना करा जाता है । इस बार 2019 में माघ मास की गुप्त नवरात्रि का प्रारंभ माघ शुक्ल प्रतिपदा यानि ( पांच फरवरी, मंगलवार ) से शुरू हो चुका है,और आज 7 फरवरी है यानी तीसरा दिन है।

Sadhna Jap Anushthan Ka Khash din आपने इस खास दिन के बारे में जाना मैं परमात्मा से प्रार्थना करता हूँ ,दूआ मांगता हू कि आपका मन साधना में लगा रहे और आप अपने भौतिक जगत की सारी दिक्कतों को दूर कर परमात्मा के रास्ते चले,आनंद पाये, भक्ति मीले ।

Sadhna Jap Anushthan Ka Khash din इस खास जानकारी को साधको में सेयर कर अपार पुण्य लाभ अवश्य कमाऐ । साधना के इच्छुक साधक संपर्क करे और युटुब पर देखें YouTube.com/mantragyan

धन्यवाद

क्रिया योग ,ध्यान योग ,मंत्र साधना शिविर में शामिल होना चाहते है तो संपर्क करे वाट्स अप नं 7898733596 साधना विषय :- 1.क्रीया योग की उस गुप्त साधना का अभ्यास जिनका, वीडियो या लेख में बताना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है। २. ध्यान की खाश तकनीक। ३. मंत्र योग की खाश विधि। ४. समाधी की गुप्त रहस्य। ५. कुंडलिनी जागरण की गुप्त और विशेष टेक्निक। 6. आर्थिक और आध्यात्मिक विकास के लिये विशेष साधना विधि नोट :- Lockdown के बाद साधना शिविर में शामिल होकर आध्यात्मिक विकास करें । यदि आप का भाग्य में गुरु क्रपा नहीं है तो आप अभागा हैं। और गुरु दीक्षा लेकर ईस दिन गुरू मंत्र का विशेष अनुष्ठान कीया तो अभागा भी महा पुण्य वान, माहा भाग्यशाली बन जायेगा सिर्फ श्रद्धा विश्वास रखता हो !