October 22, 2020
  • October 22, 2020

Sadhana ke liye Sanhi Samay kab ha

By on November 25, 2018 0

Sadhana ke liye Sanhi Samay kab ha

Sadhna

Sadhna

साधना के लिये श्रेष्ठ सयय और श्रेष्ठ
स्थान:-

वैसे तो साधना किसी भी स्थान में किसी भी समय किया जा सकता है ,लेकिन but नए साधकों के लिए यह बड़ी-बड़ी ज्ञान की बातें उचित नहीं क्योंकि because भीड़ और उपद्रवी लोगों के बीच हम ध्यान लगाना चाहे ,या मंत्र जप करना चाहे तो हंसी ठिठोली की विषय होगी, और and ध्यान लगेगा भी नहीं ,

Sadhana ke liye Sanhi Samay kab ha

साधना में सफलता ईसे भी पढें https://mantragyan.com/bhakti-or-gyan-yog/sadhna-me-success-sadhna-ki-savdhaniya-kya-ha/

साधना नियम :-

1. शांत स्थान पर ही अपनी नीत्य नियम करना चाहिए !

2. प्रतेक दिन नियमित स्थान में ही साधना करें ।

3. वैसे तो सबसे बेहतर साधना स्थान अपने गुरू की सानिध्य में करना है।

शिष्य जब गुरू की निगरानी में रहता है , तब उसका Then its मन इन्द्रिय-विषयक भोग विलासों से विमुख बनने लगता है। गुरूओं एवं संतों के समागम (सत्संग) से, धार्मिक ग्रंथों के अभ्यास के, सात्त्विक भोजन से, and प्रभु के नाम (मंत्र जप) आदि से From etc.सात्त्विक वृत्ति में वृद्धि होती है।

Sadhana ke liye Sanhi Samay kab ha

साधना :-

साधना यानी, नीत्य संध्या से तन-मन की, अंतःकरण की शुद्धि हो जाती है । Such as हम रोज स्नान करते है ,रोज नींद करते है स्वास्थ्य के लिए, ऐसे ही मानसिक -बौद्धिक स्वस्थता के लिए भी नीत्य संध्या यानी साधना करना चाहिए।

1.संध्या में प्राथना होता है,

2.प्राणायाम होता है,

3.जप होता है,

4.ध्यान होता है,

5.शास्त्र चिंतन होता है,

किसी की जन्म कुंडली में यदि कीतनो ही नीच योग क्यो न हो, आपके ज्योतिष आप के लिये मरन तुल्य कष्ट का भी भविष्य वाणी क्यो ना करा हो जो ईस नियम से साधना करते हैं , संबंधित दोष स्वतः ही समाप्त हो जाता है ,मंद हो जाता है।

आज जितना आदमी बीमार,दुःखी, अशांत है उतना संध्या करने वाले नही होता, साधना आध्यात्मिक स्वास्थ्य के साथ साथ शरीर स्वास्थ्य में भी मदद करती है।

जिस प्रकार मूर्ख मनुष्य दो पैसे की वस्तुओं के पीछे अपना चित्त बिगाड़ देता है उस प्रकार साधक को वस्तुओं के पीछे अपना जीवन बरबाद न कर अपनी शक्ति को साधना से जगाना चाहिए।

Focus word :-

तू अजर, अमर आत्मा-परमात्मा का ज्ञान प्राप्त करके यहीं पर मुक्ति का अनुभव कर ले । Sadhana ke liye Sanhi Samay kab ha लेख में बताये विधि आपका सहायता करेगी, आप साधना कर अपने आप को जगाने की साधना करें न ,की कीसी देव को मनाने की ,साधना से तन-मन की, अंतःकरण की शुद्धि हो जाती है। उसके बाद सूख दूख में चित् बिगड़ता नहीं।

योग साधना की जानकारी के लिये यूटूब पर देखें

यूटूब चैनल :- YouTube.com/mantragyan

क्रिया योग ,ध्यान योग ,मंत्र साधना शिविर में शामिल होना चाहते है तो संपर्क करे वाट्स अप नं 7898733596 साधना विषय :- 1.क्रीया योग की उस गुप्त साधना का अभ्यास जिनका, वीडियो या लेख में बताना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है। २. ध्यान की खाश तकनीक। ३. मंत्र योग की खाश विधि। ४. समाधी की गुप्त रहस्य। ५. कुंडलिनी जागरण की गुप्त और विशेष टेक्निक। 6. आर्थिक और आध्यात्मिक विकास के लिये विशेष साधना विधि नोट :- Lockdown के बाद साधना शिविर में शामिल होकर आध्यात्मिक विकास करें । यदि आप का भाग्य में गुरु क्रपा नहीं है तो आप अभागा हैं। और गुरु दीक्षा लेकर ईस दिन गुरू मंत्र का विशेष अनुष्ठान कीया तो अभागा भी महा पुण्य वान, माहा भाग्यशाली बन जायेगा सिर्फ श्रद्धा विश्वास रखता हो !