October 30, 2020
  • October 30, 2020

Life me success Ki saral vidhi

By on February 19, 2019 0

Life me success Ki saral vidhi

Success life

Success life

success पाने के लिये :-

जो व्यक्ति एक्साइटिड रहता है , जो व्यक्ति प्रसन्न रहता है , वह निश्चित तौर पर सफल होता है। जब मैं छोटा था तब मैं यह समझता था की जो व्यक्ति खुश है “वह खुश है क्योंकि वह success है” पर इसके उल्टा होता है सत्य । और सत्य यह है “जो व्यक्ति खुश रहता है वह success होता है ” !

अगर आप चाहते हैं कि आपके दोस्त ज्यादा हो, आपका मान-सम्मान ज्यादा हो, तो आप खुश रहिए ! क्योंकि मेरा मानना है कि success पाने के लिए आपको एक्साइटिड रहना बहुत जरूरी है । सदा खुश रहना बहुत जरूरी है ।

Life me success Ki saral vidhi

आप ने भी अनुभव कीया होगा, जो काम आप खुश रहकर करते हैं उसमे आप सफल होते हैं और अगर आप कीसी काम को सफल होने के लिए करते हो तो जरूरी नहीं कि आप खुश हो ।

example :-

अभी मैंने एक किताब पढ़ी थी जिसमें लिखा था , हास्पिटल की कहानी है ! 1 बच्चों का डॉक्टर था उसमें बहुत सारे लोग अपने बच्चों को ईलाज के लिये लेकर आए थे , पर कोई किसी से बात नहीं कर रहा था माहौल बहुत गमगीन था ,अब जैसा कि बच्चों का स्वभाव होता है मुस्कुराना क्योंकि उसे कोई फिक्र नहीं होती तो एक बच्चा एक बूढ़े दादा जी को देखकर मुस्कुराया, दादा जी ने भी उसे देख कर बोले मेरा नाती भी ऐसा ही है, और बातो का सिलसिला चालू हो गया।

सभी लोग बात करने लगे , बातो का शीलशीला शुरुआत हुई बच्चे के मुस्कुराने से, तो कहने का मतलब यह है ! कि आप खुश रहोंगें तो आप success हो जाते है

अब बात करते हैं आलोचना की । एक बार की बात है, एक मोटरसाइकिल वाले का एक्सीडेंट हो गया , जब पुलिस वाला आया और जो घायल था उसकी आलोचना करने लगा , कि तुम तीन बैठे हो मोटरसाइकिल पर , गलत काम कर रहे हो, जो घायल हुए थे वह बोले कि सामने से एक मोटरसाइकिल आया कट मार के चला गया जिसकी वजह से हम गीर गये और घायल हो गये। अब वह मोटरसाइकिल वाला उस दूसरे मोटरसाइकिल वाले की आलोचना कर रहा था ।और पुलिस वाला जो उसकी आलोचना कर रहा था । कोई अपनी गलती नहीं मान रहा था। चाहे कोई उम्र कैद काट रहा हो । कोई भी गलती करा हो, अपनी सफाई का उसके पास कुछ ना कुछ बहाना होता है ,कि उसने कोई गलत नहीं करा है।

हमे सदा आलोचना से बचना चाहिए and आलोचना इस तरह करो कि सामने वाले को कुछ बात समझ में आए। लोगों को ! पसंद है ज्यादा से ज्यादा तारीफ कराना। और तारीफ से लोग खुश होते हैं और बातों को समझते हैं , जो हम कहना चाहते हैं ।

Life me success Ki saral vidhi

एक देहाती महिला थी जो सबके लिए बढ़िया-बढ़िया खाना बनाती थी एक दिन थोड़ा सा खाना खराब बन गया । अब सब उसकी आलोचना करने लगे कि नमक ज्यादा है, तीखा भी बना है। तो वहीं महिला दूसरे दिन थाली में भूसा परोस दी तब लोगों ने कहा यह क्या व्यवहार है तो वह महिला बोली जब मैं अच्छा खाना बनाती हूं , तब मेरी तारीफ नहीं करते हो, एक दिन खराब बन गया तो सब आलोचना करने लग गये। तो कहने का तात्पर्य यह है कि अगर हम किसी को अच्छा कार्य करते देखे तो उसकी प्रशंसा जरूर करें।

“सफल होने के लिए हमें प्रसंन्न रहना और दूसरों की प्रशंसा करनी चाहिए”

हर इंसान में कुछ ना कुछ अच्छाई होती है तो हमें उनकी अच्छाई पर ध्यान देना चाहिए और उसकी प्रशंसा करनी चाहिए ।उससे कुछ सीखना चाहिए। एक बकरी है अगर उसको हम हरी घास देंगे तो हमारी तरफ आएगी अगर उसको हीरे मोती देंगे तो वह उसके काम का नहीं वह हमारे पास नहीं आएगी !

तो कहने का तात्पर्य है :-

आलोचना ना करें लोगों की प्रशंसा करें, सेवा करें । जो समाज में लोगों की सेवा करता है उसे लोग अच्छा मानते हैं और सेवा करना भी अच्छा है । गीता जी में भी बताया गया है । “सदा प्रसंन्न रहना ईश्वर की सर्वोपरि भक्ति है “ सेवा करें एक्साइटेड रहें खुश रहें जिससे आपको सफलता जरूर मिलेगी !

अध्यात्मिक समस्या के हल के लिये, अध्यात्मिक सफलता के लिये हमारे यूटूब पर अवश्य जायें।

Happy life

Happy life

The simplest way to get success, simple and simple.

The person who remains excited, the person who remains happy, is definitely successful. When I was young then I used to think that the person who is happy “he is happy because he is successful” but the opposite is true. the truth is that ,the person who is happy successful!

If you want your friend to be more, your honor is high, then be happy! Because I believe it is very important for you to be excited to get success. It is very important to always be happy.

You will also have experienced, you are successful in the work you do while you are happy and if you do any kind of work to succeed then it is not necessary that you are happy.

Right now I had read a book in which it was written, the story of the hospital! 1 was a doctor of children in that a lot of people had brought their children for treatment, but no one was talking to anyone. The atmosphere was very hot, now as the children have the nature smiling because they are not worried, then one The child smiled at seeing an old grandfather, grandfather also saw him and said, “My daughter-in-law is the same, and the cycle of the baton is tur.

Manash dhyan This read 👉 https://mantragyan.com/dhyan-smadhi/what-is-manash-dhyan-and-best-method/

All the people started talking, Bata’s silence started with the smile of the child, so to say it means! That “you are successful when you are happy”.

Now let’s talk criticize. Once upon a time, a motorcycle turned into an accident, when the police came and started to criticize the person who was injured, that you are sitting three on the motorcycle, doing the wrong thing, the ones who were injured said that from the front A motorcycle came and hit me, because of which we got lost and got injured. Now he was criticizing the motorcycle with the other motorcycle. And the policeman who was criticizing him. Nobody was assuming his mistake. Whether someone is cutting off the lifecycle Make any mistake, he has some excuse for his cleanliness, that he has not done any wrong.

Life me success Ki saral vidhi

We should avoid the usual criticism and criticize it in such a way that the front person understood something. People’s ! Liking as much praise as possible. And with praise, people are happy and understand things which we want to say.

There was a rustic woman who made good-quality food for everyone, a little bit of food became spoiled one day. Now everyone began to criticize him that salt is high, acrid is also made.
Then the woman served the rice on the other day on the plate, then people said, what is this behavior, that lady quote when I cook good, then do not compliment me, one day became bad and then all started criticizing. So, the meaning of saying is that if we see someone doing a good work, then they must praise him.

“To be successful, we must remain vigilant and praise others”

If every person has some goodness, then we should pay attention to his goodness and praise him. He should learn something from him. If a goat is to give us green grass then it will come on our side if we give diamonds to pearls, then it is not of its use, it will not come to us!

So the meaning is to say: –

Do not criticize people, serve them. Those who serve people in society, they believe in good and it is also good to serve. Geeta ji has been told as well. Be “always devoted to God is the supreme devotion” Be happy to be excited, that will surely give you success!

For the solution of spiritual problems, let’s go to our YouTube for spiritual success.

YouTube :- YouTube.com/mantragyan

क्रिया योग ,ध्यान योग ,मंत्र साधना शिविर में शामिल होना चाहते है तो संपर्क करे वाट्स अप नं 7898733596 साधना विषय :- 1.क्रीया योग की उस गुप्त साधना का अभ्यास जिनका, वीडियो या लेख में बताना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है। २. ध्यान की खाश तकनीक। ३. मंत्र योग की खाश विधि। ४. समाधी की गुप्त रहस्य। ५. कुंडलिनी जागरण की गुप्त और विशेष टेक्निक। 6. आर्थिक और आध्यात्मिक विकास के लिये विशेष साधना विधि नोट :- Lockdown के बाद साधना शिविर में शामिल होकर आध्यात्मिक विकास करें । यदि आप का भाग्य में गुरु क्रपा नहीं है तो आप अभागा हैं। और गुरु दीक्षा लेकर ईस दिन गुरू मंत्र का विशेष अनुष्ठान कीया तो अभागा भी महा पुण्य वान, माहा भाग्यशाली बन जायेगा सिर्फ श्रद्धा विश्वास रखता हो !