October 23, 2020
  • October 23, 2020

Brahmachary And Kundlini

By on February 6, 2019 0

Brahmachary And Kundlini

ईस लेख में हम चर्चा करने वाले है brahmachary and Kundlini पर यानि हमारे सुप्त आध्यात्मिक 7 चक्रो को Brahmachary And Kundlini एक्टिव करने में brahmachary का क्या योग दान है।

Kundlini and Brahmachary Sex

कुंडलिनी क्या है :- सुप्त आध्यात्मिक केंद्र , दोनों का एक ही मतलब है या Brahmachary And Kundlini पर्यायवाची शब्द हो। जैसे :- जल, पानी, नीर ,,,,,,,,

brahmachary :- शक्ति रक्छण या वीर्य संरक्छण।

Brahmachary And Kundlini

अश्लील वेबसाइट की वजह से देश का युवा इंसान से वापस Brahmachary And Kundlini जानवर बन रहा है सेक्स का भूखा हो रहा है ,एक ऐसी भूल जिसको कभी मिटाया नहीं जा सकता।

और लोग इतने कामुकता में तब्दील हो चुका है ,क्या लड़की और क्या लड़का सभी यही हाल है, क्या शादीशुदा क्या बैचलर सभी इन लुभावने वीडियोस को देखने के लिए हर नौजवान बेचैन रहता है।

जैसे :-

डॉग उत्साहित होते हैं सर्दियों में ,जानवरों की तरह कामूक हो गया है युवा । पार्टनर मिला तो ठीक नहीं तो खुद ही शुरू।आलम यह है कि सुबह जब स्कूल जाता है, कॉलेज जाता है ,दफ्तर जाता है, बजार जाता है तो उसे पूरे कपड़ों में भी नारी नंगी ही दिखती है और लड़कियों को लड़कों का शरीर स्वस्थ और स्मार्ट दिखता है और उन्हें देखने में आनंद आता है।

नतीजा यह है :-

दिन भर में जितने भी निर्णय लिए जाते हैं उनमें काम भावना और सेक्स रूझान का बहुत बड़ा रोल बन जाता है। जीनमे कुछ महत्वपूर्ण डिसीजन भी होते हैं, शायद जीन पर आपकी आजीविका भी निर्भर हो सकती है।

१. जैसे बॉस का जॉब के लिए इंटरव्यू लेना हो।

२.जैसे कॉलेज में प्रोफेसर का किसी एक स्टूडेंट के प्रति ज्यादा ध्यान देना हो।

३.या कक्षा में लड़कियों या लड़के का बैठने का स्थान जहां से प्रेमी-प्रेमिका एक दूसरे को ठीक से देख सके भले ही विद्या देने वाला ब्लैक बोर्ड दिखे या ना दिखे चलेगा।

पर सेक्स के प्रति समाज में उन्माद के लिए केवल अश्लील वीडियो ही दोषी नहीं इसमें दोष आपका है और ये मामला थोड़ा कॉम्प्लिकेटेड है। जवान लड़कों और लड़कियों को समझना होगा की ये हमारे जींस में है ।लगातार संभोग करना और अपने आक्सफिंस पैदा करते रहना ताकि हमारे प्रजाति हमेशा जिंदा रहे । ये सेक्स ड्राइव हमारे DNA में ही सामील है, जो हमारे सेक्स के प्रति अट्रैक्शन कोई खास उम्र में काफी प्रभावित करती है। ईसे हम प्रक्रितिक वंश व्रिद्धि का गुण भी कह सकते हैं ।

Brahmachary And Kundlini

प्राकृतिक गुण यानि स्वतः –

सेक्स करने की प्रवृत्ति जो कि जानवर को जानवर बनाती है ,सेक्स संभोग याने कुछ मिनटों का नकली आनंद आना जो की निचले स्तर का छनीक आनंद होता है ऐसा सेक्सुअल आनंद जिसकी भूख कभी पूरी हो ही नहीं सकती ,इसे दबाना पड़ता है क्योंकि हमारा यह प्राकृतिक गुण है कि हम सेक्स के प्रति अट्रैक हो और प्राकृतिक रूप से हम अपने प्रजाति का विस्तार कर सके।

आपको इसे समझना होगा पृथ्वी पर 8400000 प्रजातियां है लेकिन सिर्फ एक मानव ही है जो इंसान बन सका और ,यही एक प्रजाति है, इंसान ही है जो पृथ्वी का अग्रणी जीव बन सका क्योंकि इंसान ने अपनी इंद्रियों पर कंट्रोल किया Brahm achary पालन खासकर जननी इंद्रियों पर कंट्रोल पा लिया क्योंकि जानवर तो इस पर कंट्रोल पा नहीं सकते और उनका कोई फिक्स पार्टनर होता नहीं आपको भी पता है, लेकिन इंसानों ने समाज बनाए हैं और कुछ परंपराएं हैं जिसका पालन करके अपनी इंद्रियों पर वश में करके अपनी कुंडली शक्ति को एक्टिवेट कर सकते हैं, brahmachary सेक्स शक्ति पर जिसने भी कंट्रोल पाई थी उन्हें आज भी पूजा जाता है।

जैसे :-

हमारे ऋषि , मुनि , सूफी संत इन सारे लोगों ने अपने इस सेक्स पावर पर कंट्रोल किया था जिनके कारण अपने kundlini शक्ति को जागृत किया था, तभी उन्हें सदियों बाद भी पूजा जाता है क्योंकि इन्होंने अपने प्राकृतिक सेक्स पर नियंत्रण पाया था । लेकिन आज का युवा इंसान से जानवर बनने पर तुला हुआ है यानी कि सेक्स के लीये अपने गर्लफ्रेंड के साथ में टाइम बिताना या उनको छूना या फिर छू नहीं सकता तो सिर्फ विचार मात्र से अपनी शक्ति को हराश करने में लगा हुआ है, यही बात लड़कियों पर भी लागू होती है अपना अधिक समय अपने आप को मेंटेन करने अच्छा कैसे दिखे बॉयफ्रेंड को कैसे हम अट्रैक्ट करें में बिता देते हैं, लड़की और लड़कों में एक बात तो कामन है कि कैसे हम अपने पार्टनर को अट्रैक्ट करें कैसे हम उनके साथ में हम अधिक से अधिक समय बीतायें, सेक्स कर पाएं और अपनी शक्ति को हराश करने में लगे हुए हैं।

आज का युवा पीढ़ी सिर्फ अपने इन्हीं बातों को पालन करने में अपना समय व्यर्थ गंवा रहे हैं अगर वह ऐसा ही करते रहे तो एक दिन ऐसा भी होगा कि वह अपने संतान पैदा करने की शक्ति को खो ही देंगे।

क्या हम एक बार फिर पशु बनने में मजा नही ले रहे हैं? क्या यह सत्य नहीं है? क्योंकि आज हर युवा के मन में यही बात है कि वह कैसे अपने आप को मेंटेन करें , वह सेक्स करें क्या ।

Brahmachary And Kundlini

आप विचार करे :-
जबकि सेक्स का आनंद निचले स्तर का है , और क्षणिक है , आप याद करें कि जिस दिन आपने परीक्षा में टॉप किया था तो आपको क्षण का आनंद प्राप्त हुआ था, जैसे कि आपने किसी कंपटीशन एग्जाम पास किया था और आपको आनंद हुआ था,

ब्रम्हचर्य खंडन के बाद

ब्रम्हचर्य खंडन के बाद

जबकि सेक्स के छणीक आनंद के बाद आपने खुद अपने आप से ग्लानि महसूस किया था मानो आप ने भयंकर पाप कर लीया हो तो ,सेक्स के उन दो से 20 मीनट के बाद मानो आप ने भयंकर पाप किया हो आप जरा सोचीये कि आप अपने बचपन में आप क्या सोचते थे कि आप अपने सपने को पूरा करेंगे हवाई पायलट बनेंगे या फिर देश के सैनिक बनेंगे लेकिन जैसे – जैसे युवा होते गए आपने अपने वीर्य को नाश कर दिया अपनी शक्ति का हराश कर लिया।

आज का युवा अपने बचपन के सपनों को छोड़कर आज करता क्या है ? अपने शरीर को मेंटेन करता है , सिक्स पैक बनाता है । लड़कियां अपने फिगर को मेंटेन करती हैं ताकि उनको कोई अच्छा दोस्त मिल सके, और अगर किसी को प्रेम रोग हो जाए तो उनका अंतिम लक्ष्य सिर्फ और सिर्फ प्रेम विवाह करना होता है , चाहे कुछ भी करना पड़े। जो बचपन के सपने कुछ और थी आज इतने वीभत्स हो गया है कि सिर्फ “चमडा चांटने तक ही “प्यार में ही सिमट कर रह गया है और अपनी शक्ति का हराश करके अपने आप को जानवर बनाने में लगे है।

यह ब्रह्मचर्य का पालन न करना आपको एक बार पुनः इंसान से जानवर बनाने में तुला हुआ है और आप अपनी सारी शक्ति को एक ही जगह पर खर्च कर देते हो कि कैसे आप अपने लड़की फ्रेंड या लड़का फ्रेंड को आप आकर्षित करो और अपना सारा समय इसमें , नुकसान में लगा देते हो ।

Brahmachary And Kundlini

आप से एक सवाल :-

१. क्या आप अपने गलत तरीके का उपयोग करके गलत जगह पर आप अपना फोकस नहीं कर रहे हैं ?

२. क्या आप अपने सपनों को पाने की बजाय गलत चीजों में आनंद उठाने की कोशिश नहीं कर रहे हैं?

अगर आप एक बार इस इंद्रियों को बस कर लोगे ना तो आप जीवन की सच्चाई को जान जाओगे अपनी शक्ति को एक्टिव कर पाओगे अपने सुपर शक्ति जो सात केंद्र में समाहित है उन्हें एक्टिव करके आप परमानंद भी प्राप्त कर सकते हो ।

आप से आग्रह

प्लीज- प्लीज – प्लीज ‘,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

बिल्कुल सही चुनाव करिए आप अपनी शक्ति को हराश न करें जितना समय आप इस लड़की को मनाने में इस लड़के को रिझाने में देते हो अगर उससे भी चौथाई हिस्सा अपनी आत्मशक्ति को जगाने में अपने सूप्त केंद्र को एक्टिव करने में देते हो तो तुम निश्चित ही उस परम पद को प्राप्त कर पाओगे जिसे हमारे संतो ने प्राप्त करा और सत्चीदानंद कहा है।

आप से सवाल :-

१. क्या आप अपनी कुंडली शक्ति को जागृत कर के अपने आत्म तत्व तक जाने का यानी भरपूर आनंद उठाने का रास्ता छोड़कर गलत नहीं कर रहे हो ?

२. क्या आप अपने बचपन में बनाये गोल को भूल नहीं रहे?

३. क्या आप अपनी माँ बाप का सपना अधूरा नहीं छोड रहे?

कुंडली और ब्रम्हचर्य

कुंडली और ब्रम्हचर्य

focus word :-

Brahmachary And Kundlini का पालन करे अपने सुप्त कुंडलिनी शक्ति को जगाए जिसने भी brahmachary का पालन किया है उसे हजारो साल तक यद् किया जाता है ,बगैर बरह्मचर्य का तो छोटी शी किताब भी याद नहीं रहेगा ,साडी सधना में श्रेष्ठ साधना brahmachary पालन कर कुंडलिनी जागरण कर आत्मा ज्ञान पाना है न की जानवर की तरह सेक्स करते हुए जानवर की तरह मर जाना। Brahmachary And Kundlini दोनों का एक ही मतलब है। आप काम वासना से वैराग लाये और परमानंद पाने के लिए गुरू के बताये साधना करे।

यह लेख साधको में सेयर करने का पुण्य लाभ अवश्य कमायें .माँ परमात्मा से दुआ करता हु आप का मन साधना,सेवा में लगे और परमात्मा का आनंद प्राप्त करें।

thanks

क्रिया योग ,ध्यान योग ,मंत्र साधना शिविर में शामिल होना चाहते है तो संपर्क करे वाट्स अप नं 7898733596 साधना विषय :- 1.क्रीया योग की उस गुप्त साधना का अभ्यास जिनका, वीडियो या लेख में बताना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है। २. ध्यान की खाश तकनीक। ३. मंत्र योग की खाश विधि। ४. समाधी की गुप्त रहस्य। ५. कुंडलिनी जागरण की गुप्त और विशेष टेक्निक। 6. आर्थिक और आध्यात्मिक विकास के लिये विशेष साधना विधि नोट :- Lockdown के बाद साधना शिविर में शामिल होकर आध्यात्मिक विकास करें । यदि आप का भाग्य में गुरु क्रपा नहीं है तो आप अभागा हैं। और गुरु दीक्षा लेकर ईस दिन गुरू मंत्र का विशेष अनुष्ठान कीया तो अभागा भी महा पुण्य वान, माहा भाग्यशाली बन जायेगा सिर्फ श्रद्धा विश्वास रखता हो !